I'll Earn a little from this :)

Sunday, April 24, 2016

"दिल की कलम से" - A Gift for Someone you really Love and Care

  

यह लेख पिछली करवा चौथ के दिन लिखा थाजो मैं आज आप सभी के साथ शेयर करना चाहता हूँ|

करवा चौथ का दिन जिसमे सभी भारतीय नारियाँ अपने पति की लंबी उम्र की सलामती के लिए व्रत रखती हैंत्याग और सम्मान की भावना तो नारी में शुरू से ही रही हैबचपन में वो अपने भाई के लिए अनेकों बार त्याग करती हैशादी होने के बाद उसे सिखाया जाता है और कहा जाता है की वो अपने सास-ससुर को माता-पिता समान समझेहमेशा उनकी सेवा करेपति को परमेश्वर के समान समझेहर कठिनाई में हर मुसीबत में पति का साथ देमैं आज उन सभी पुरुषों से कहना चाहता हूँ जो की एक भाई हैपति हैससुर हैजेठ हैदेवर है कि क्या सारा का सारा दायित्व ही नारियों का हैक्या हम उनके दायित्वों काउनके कर्तव्यों का भार साथ में हम क्यों नही उठाते हैंजैसा व्यवहारजैसा सम्मान हम नारियों से चाहते हैंवैसा ही प्यारसम्मानआदर हम अपनी बहनपत्नीमाताओं को देंअगर इस पुरुष प्रधान वाले देश में अगर हम सभी के अंदर इस तरह की भावना जाएगी तो हमारे देश में आए दिन होने वाले कुकर्म समाप्त हो जाएँगेजितना आपकी पत्नी आपसे प्यार करती हैआप पर विश्वास रखती हैआप भी उसे दुगना प्यार दें और उस पर विश्वास रखेंऐसा करने से जीवन सफल हो जाएगाआपके अंदर की आत्मग्लानि ख़त्म हो जाएगीदो लाइने उस पत्नी के नाम प्रस्तुत कर रहा हूँ जो मेरी लंबी आयु के लिए व्रत रख रही हैमेरे घर आने का इंतज़ार कर रही है :-

"करवा चौथ के दिन अब मैंउन वादों को दोहराऊंगा|

सात वचन जो तुमको दिये थेजिंदगी भर निभाऊंगा |



-----Your Loving Husband.

No comments:

Post a Comment