I'll Earn a little from this :)

Sunday, April 3, 2016

हौसलों की उड़ान

                          
यदि इंसान छोटी से छोटी चीजों पर ध्यान दे तो कई बार हमे जिंदगी से बहुत सारी सीख मिलती है| आज जब में सुबह नहा रहा था तो मैने गौर से देखा कि एक छोटा सा रैंगने वाला जीव पानी में बह रहा था, जैसा मेने देखा कि उसको लग रहा था की वो पानी में डूब जाएगा एवम् वह अपने प्राण गँवा देगा इसीलये वह पानी के विपरीत जाने की भरपूर कोशिश कर रहा था| आख़िरकार वह अपनी कोशिश में कामयाब रहा और वह तैरकर पानी से बाहर की और निकल गया| जैसे ही वह पानी से बाहर निकला, कीड़े की एनर्जी देखने लायक थी,जैसे की उसको नई जिंदगी मिल गई हो और वो बड़ी ही फुर्ती से दीवार पर चढ़ गया| इस घटना से मुझे एक सीख मिली की एक रेंगने वाला कीड़ा सर्वाइव करने के लिए जब इतना हौसला कर सकता है तो हम तो इंसान हैं, हम जिंदगी की छोटी छोटी परेशानियों से इतनी जल्दी कैसे हिम्मत हर जाते हैं, हताश हो जाते हैं| यहाँ तक की कई बार तो हम अपनी जिंदगी ही खत्म कर लेते हैं| इस प्रकर्ति में भगवान की सबसे सुंदर रचना इंसान की है| इंसान को सभी कुछ मिला है जो और जीव जंतुओं को नही मिल पाया है| इस लेख के ज़रिए में आप सभी से यही कहना चाहता हूँ की इस जिंदगी में सुख-दुख चलते रहेंगे बस हमें हर वक्त मुस्कुराते हुए सदैव ईश्वर में विश्वास रखते हुए चलते रहना है| हमें पता है की कोई भी चीज सदा के लिए नही है, ना ही अच्छा वक़्त सदैव रहता है और ना ही बुरा वक्त सदैव रहेगा|
इस लेख को में यही कहते हुए खत्म करना चाहूँगा की यह अन्त नही है, यह तो शुरुवात है......
       "ये वक्त ना ठहरा है,ये वक्त ना ठहरेगा|
        यूँ ही ये गुजर जाएगा, घबराना कैसा|"                     
ये हौसलों की उड़ान है...सदैव चलते रहिए...ज़य हिंद||

2 comments: